Tech news in Hindi, Tips and Tricks, how to guide, comparison,everything related to technology in Hindi

Tuesday, February 4, 2020

Things to know before buy a Laptop in Hindi


 बात आते है एक लैपटॉप खरीदने की तो अक्सर हम सोभी लोग कंफ्यूज हो जाते है कि हमे किस तरह का लैपटॉप खरीदना चाहिए। अगर हमारे पास बजट है 20000, 30000, 50000 या 100000 तो आखिर में लैपटॉप खरीदने वकत हमे किन किन बात का ध्यान रखना चाहिए।
Things to know before buy a Laptop in hindi

आपने नोटिस किया होगा जब भी आप लैपटॉप खरीदने जाते है मार्केट में तो यहां पर आपको अक्सर बताया जाता है कि इस लेपटॉप में आपको i3, i5, i7 या फिर i9 प्रोसेसर दिया गया है या फिर ये भी स्पेसिफिकेशन में लिखा होता है कि यहां पर HDD हार्ड डिस्क दिया होआ है या फिर SSD हार्ड डिस्क दिया हुआ हैं। इसके अलावा आपको ये भी बताया जाता है कि यहां पर आपको एलपीडीडीआर 4 ram दी गई है या फिर एलपीडी आर 3 और यहां पर आपको ये भी बताया जाता है कि यहां पर लैपटॉप मे इंटेग्रेटेड ग्राफिक्स कार्ड या फिर डेडीकेटेड ग्राफिक्स कार्ड दिया हुआ हैं। और बहुत कुस स्पेसिफिकेशन में लिखा होता है । अगर आप इन सारे सिजो के बारे में अच्छी तरह से जान गए तो आप आसानी से आपके लिए एक बेहतर लैपटॉप अपने बजट के हिसाप से सेलेक्ट कर खरीद सकते है ।
तो आयिए जानते है इन सीजो के बारे में एक एक करके शॉर्ट और आसान तरीको से -
सबसे पहले जानते है डिस्प्ले और स्क्रीन साइज के बारे में - 
लैपटॉप में जो स्क्रीन साइज़ होता है वो बेसिकली जो आप लैपटॉप देखते है, जो स्क्रीन देखने को मिलता है उसका जो साइज है वो कितना बरा हूगा वो बेसिकली डिपेंड करता है स्क्रीन साइज़ पर। मार्केट में आपको तरह तरह के स्क्रीन साइज़ देखने को मिल जाते है लैपटॉप के - 10 इंच का 13 इंच का 14 इंच का या फिर 16 इंच का तो यहां पर जो साइज है जितना बड़ा होगा उतना बरा आपको लैपटॉप में डिस्प्ले देखने को मिलेगा।  इसके अलावा आपको लैपटॉप में दूसरी सिज देखने को मिलता है डिस्प्ले के प्रकार। अब यहां पर आपको तीन तरह के नॉर्मली डिस्प्ले देखने को मिलता है लैपटॉप पे, एक HD होता है दूसरा होता है Full HD और तीसरा होता है Ultra HD या फिर 4K डिस्प्ले। तो यहां पर आप आपके जरूरत के हिसाब से जो लैपटॉप के डिस्प्ले है उसे सेलेक्ट कर सकते है ।  यहां पर सस्ते लैपटॉप में HD डिस्प्ले देखने को मिलेगा, थोरे से महंगा लैपटॉप में Full HD डिस्प्ले और बहुत ज्यादा एक्सपेंसिव लैपटॉप में Ultra HD डिस्प्ले देखने को मिलेगा। तो नॉर्मली आप जरूरत के हीसाप से इन डिस्प्ले को सेलेक्ट कर सकते है की आपको किस पर्पज के लिए लैपटॉप चाहिए।
अब जानते हा प्रोसेसर के बारे में -
लैपटॉप में या फिर किसी भी कंप्यूटर सिस्टम हो या कुई भी मोबाइल सिस्टम हो उसमे जो प्रोसेसर होता है वो सबसे इंपॉर्टेंट रुले प्ले करता है। तो यहां पर नॉर्मली अगर आप मार्केट में जाओगे तो यहां पर आपको लैपटॉप में i3,i5,i7 या फिर आजकल लेटेस्ट i9 प्रोसेसर भी देखने को मिल जाता है। इसके अलावा आपको यहां पर इसके सामने जेनरेशन लिखा होता है कि 3rd जेनरेशन, 4thजेनरेशन, 5th जेनरेशन तो ऐसे में आपको पता होना चाहिए कि ये सीज क्या है ।
Things to know before buy a Laptop in hindi

तो सबसे पहले जानते हैं प्रोसेसर क्या होता है - आप प्रोसेसर को तुलना कर सकते हो गाड़ी के इंजन से। अगर गाड़ी का जो इंजन है वो लेटेस्ट होगा नया होगा तो जो गाड़ी हैं वो स्मूथली चलेगा बीस बीस में रुकेगी नहीं ठीक इसी तरह लैपटॉप मे जो प्रोसेसर हैं वो लेटेस्ट टेक्नोलॉजी का होगा न्यू जेनरेशन का होगा तो जो लैपटॉप है वो स्मूठली चलेगा या फिर हेंग नहीं होगा। वहीं पर गाड़ी का इंजन दो या तीन साल पुराना हो गया है आउटडेटेड है तो यहां पर जो गाड़ी हैं वो अच्छी तरह से नहीं चलेगा या फिर बीस बीस में रुक कर चलेगा। ठीक ऐसे ही सितुएशन हैं लैपटॉप के प्रोसेसर के साथ। अगर प्रोसेसर पुराना है तो लैपटॉप हैंग होगा या फिर आप कुई एप्लिकेशन ओपन करोगे तो ओपन होने में टाइम लगेगा। अब आप सायद प्रोसेसर के बारे में अच्छे से  समझ गए होंगे।
इन प्रोसेसर बनाने वाले दो कंपनियां है इंटेल और ए एम दी। यहां पर जो प्रोसेसर है i3, i5, i7, i9 ये इंटेल द्वारा दिया गया नाम हैं - एक नाम है इनके लेटेस्ट प्रोसेसर को। ठीक इसी तरह ए एम डी का भी प्रोसेसर को भी नाम देता है इसी तरह।
अब जानिए रैम के बारे में -
रैम लैपटॉप का  एक बहुत इंपॉर्टेंट पार्ट होता है । इसे कहते है रैंडम एसेस मेमोरी। आप अपने कंप्यूटर में जितने भी एप्लिकेशन को ओपन करते है वो सारी एप्लिकेशन बेसिकली रैम के अंदर ही ओपन होते है। बेसिकली लैपटॉप में 2GB, 4GB, 8GB, 16GB रेम देखने को मिलता है। 
अब जानिए ग्राफिक्स के बारे में -
ग्राफिक्स भी लैपटॉप में सबसे इंपॉर्टेंट रूले प्ले करता हैं स्पेशली तब जब आप गेम खेलते हो। नॉर्मली लैपटॉप में इंटेग्रेटेड ग्राफिक्स या फिर डेडीकेटेड ग्राफिक्स देखने को मिलता है। लेकिन इसके पहले आपको समझना होगा कि ये ग्राफिक्स क्या हैं तभी आप समझ पाओगे कि इंट्रीग्रेटेड ग्राफिक्स या डेडीकेटेड ग्राफिक्स क्या होता है। ग्राफिक्स को सिम्पल में समझे तो आप अपने लैपटॉप में जो कुस भी देखते है या फिर जो कुस भी प्रोसेस करके  दिखने को मिलता है वो सारी सीज ग्राफिक्स के बजाई से पॉसिबल हो पाता है। तो ग्राफिक्स एक विजुअल इमेज होता है जो आप वीडियो गेम खेलते हो या फिर कुई भी वीडियो देखते हो तो यहां पर आपको जो कुस भी दिखाई जाता हैं ये जो सारा काम होता है वो बेसिकली ग्राफिक्स कार्ड का होता है। तो लैपटॉप में दो तरह का ग्राफिक्स कार्ड देखने को मिलता है - एक है इंट्रीग्रेटेड और दूसरा है डेडीकेटेड। अगर आपको लेपटॉप में लिखा हुआ है कि 2 जीबी इंट्रीग्रेटेड ग्राफिक्स कार्ड मिलेगा तो इसका मतलब है कि लैपटॉप का जो प्रोसेसर है वो रैम में से 2 जीबी एस ए ग्राफिक्स कार्ड इस्तेमाल करेगा। तो यहां पर कई बार ऐसा होता है कि ये रैम को एस ए ग्राफिक्स कार्ड यूज करने से सी पी यू में काफी ज्यादा लोड परता है इसी कारण कई बार आप वीडियो एडिटिंग करते हो या फिर गेम खेल ते हो, वहां पर कई बार लेग या फिर हैंग देखने को मिलता है। तो हमेशा याद रखिए कि अगर इंटीग्रेटेड ग्राफिक्स कार्ड दिया हुआ है तो जो प्रोसेसर है वो रैम को ही एक ग्राफिक्स कार्ड कि तरह इस्तेमाल करेगा। वहीं पर अगर लिखा हुआ है कि लैपटॉप में आपको डेडीकेटेड ग्राफिक्स कार्ड दिया हुआ है तो इसका मतलब ये है कि लैपटॉप में अलग से 2 जीबी का या फिर जितना जीबी का लिखा होता होगा उतना जीबी का ग्राफिक्स कार्ड दिया हुआ है। यहां पर जो प्रोसेसर है वो किसी भी तरह के रैम से या फिर केहलो रैम को ग्राफिक्स कार्ड की तरह इस्तेमाल नहीं करेगा क्युकी अलग से ही डेडीकेटेड दिया हुआ है ग्राफिक्स कार्ड। जिससे जो ओवरऑल ग्राफिक्स है वो बहुत ही अच्छे देखने को मिलता है। इसी तरह से आप अगर किसी भी तरह के लैपटॉप लेना चाहते हो जहा पर वीडियो एडिटिंग करना चाहते हो या फिर बहुत ज्यादा गेम खेलना चाहते हो तो हमेशा आपको ऐसे लैपटॉप को खरीदना चाहिए जहा पर आपको डेडीकेटेड ग्राफिक्स कार्ड दिया हुआ है।
अब जनी हार्ड डिस्क के बारे में -
आपको शायद पता होगा कि आप अपने लैपटॉप में जो भी डाटा सेव होता है, जो भी ऑपरेटिंग सिस्टम सेव होता है सारा का सारा हार्ड डिस्क पे सेव होता है। आप हार्ड डिस्क को मेमोरी कार्ड से या फिर आपके मोबाइल में को इंटरनल स्टोरेज होता है उसे तुलना कर सकते हो। यहां पर दो तरह का हार्ड डिस्क देखने को मिलता है - एच डी डी जिसे हम कहते है हार्ड डिस्क ड्राइव ये  जेनरेली जितने भी लैपटॉप होता है ज्यादा तर लैपटॉप में एच डी डी हार्ड देखने को मिलता है क्यो की ये हार्ड डिस्क सस्ता होता है और ये नॉर्मल काम के लिए अच्छा माना जाता है। और दूसरा होता है एस एस डी जिसे हम केहते है सॉलिड स्टेट ड्राइव। इसकी रिड राईट स्पीड बहुत ज्यादा फास्ट होता है ऐस डी डी के तुलना से और ये थोड़ा सा महंगा भी होता है। ये ज्यादा तर बेहतर यानी महंगा लैपटॉप में देखने को मिलता है।और जो ओवरऑल परफॉर्मेंस है वो एच डी डी के मुकाबले बेहतर देखने को मिलता है।
अब हमे लगता है कि आप आप अपने लिए एक बेहतर लैपटॉप सुन कर खरीद सकते है अपने रिक्वायरमेंट के हिसाब से बिना कंफ्यूज होते हुऐ।